Life Style | What is Your Category in the Management of Money and Financial, Let us Know (हिंदी में भी )

Categories of Management of Money and Financial

financial and money
Money Management 

Financially strong and proper management is very important for a successful life. There are many types of people in this world, who manage their money or financial management in different ways. Every person wants to make a lot of progress and earn money so that he can complete all the resources of his life, but only few people can do it.

To know this fact, we put 3 categories of people –

Lower -

  • Most people in this category have no financial plan. They earn and spend.
  • Due to lack of money in emergency, they get trapped very badly like health, emergency, hospital etc.
  • Do not think about the future and one time is completely wasted.
  • No knowledge about financial planning.
  • Family is dependent on one alone.
  • There is a lack of education because very young people start working.
  • Resources for living would be scarce

Middle-

  • People pay a lot of attention to studies so that they can get a good job.
  • Most people go to work and save their future money.
  • Financial plan is known and banks, life insurance etc. are invested, but do not keep it on a very large scale even for their children.
  • Sometimes, people of these classes have to face financial difficulties when a big problem comes.
  • The people of the middle class always go on making bread, clothes and houses their life goals because the society is seen with such respect from such sections.
  • Family is dependent on one alone.
  • Many living resources are resources and they are happy in that.

Higher-

  • People of this class are mostly entrepreneurs, employees themselves or investors.
  • Time is considered as money, so do not waste time in useless things.
  • Always continue to teach something or increase knowledge.
  • Always take care of your values ​​and social personality.
  • There is a whole team working for them, due to which time and work is in increasing order.
  • Many times people of this class have also been wasted in their business due to not having the right financial plan.
  • Higher class are all resources of living.
  • Often, financial planning is handled very seriously because a lot of people have responsibility over this category.
  • Invest in many places so that you can get caught up in difficult financial situations.

Fact-

Money management or financial planning will be successful only if the person binds himself to the right rules, such as putting the money you have for the same purpose or work for which you have earned and thought, by doing this you will never get financial problem will not come. Whatever you need, you spend on those things. Also keep your income in mind.

The proverb in Hindi -

“When Expenditures Exceed Income”

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------

पैसे और वित्तीय के प्रबंधन की श्रेणी

एक सफल जिंदगी के लिए आर्थिक रूप से मजबूत और उसका सही प्रबंधन बहुत ही महत्वपूर्ण होता है. इस दुनिया में कई तरह के लोग है, जो अपने पैसे या आर्थिक प्रबंधन अलग - अलग तरह से करते है. हर इंसान यही चाहता है कि खूब तरक्की और पैसा कमाए ताकि वह अपनी जीवनयापन के सभी संसाधनों को पुरा कर सके, लेकिन कुछ लोग ही कर पाते है.

इस तथ्य को जानने के लिए हमने लोगो को 3 श्रेणियों रखा –

लोअर-

  • इस श्रेणी के अधिकांश लोगो का कोई वित्तीय योजना नहीं होता है. ये कमाते और खर्च कर देते है.
  • आपातकालीन समय में पैसा न होने पे बहुत बुरी तरह से फंस जाते है जैसे स्वास्थ्य, आकास्मिक घटना, हॉस्पिटल इत्यादि.
  • भविष्य के लिए कुछ नहीं सोचते और एक समय पूरी तरह से बर्बाद हो जाते है.
  • वित्तीय योजना के बारे में ज्ञान नहीं होता.
  • परिवार एक अकेले पर निर्भर होता है.
  • शिक्षा की कमी होती है क्योकि बहुत कम उम्र काम पर लग जाते है.
  • जीवनयापन के संसाधन न के बराबर होता. 

मिडिल-

  • लोग पढ़ाई पे बहुत ध्यान देते है ताकि अच्छा नौकरी पा सके.
  • अधिकांश लोग नौकरी कर के अपने भविष्य के पैसा बचा के चलते है.
  • वित्तीय योजना की जानकारी होती है और बैंक, जीवन बीमा आदि निवेश करते है, लेकिन बहुत बड़े पैमाने पर नहीं रखते है अपने बच्चो तक के लिए ही सोचते है.
  • कभी कभी कोई बहुत बड़ी मुसीबत आ जाने पे यह वर्गो के लोगो को वित्तीय कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है.
  • मिडिल वर्ग के लोग हमेशा रोटी, कपडा और मकान को ही अपने जीवन लक्ष्य बना के चलते है क्योंकि समाज ऐसे वर्गो को बहुत आदर की दृष्टि से देखा जाता.
  • परिवार एक अकेले पर निर्भर होता है.
  • जीवनयापन के बहुत काम संसाधन होते है और उतने में खुश रहते है.

हायर-

  • इस वर्ग के लोगो ज्यादातर उद्यमियों,स्वयं कर्मचारी या निवेशक होते है.
  • समय को ही पैसा मानते है इसीलिए फालतू चीजों में समय बर्बाद नहीं करते है.
  • हमेशा कुछ ना कुछ सिखाते रहते और ज्ञान बढ़ाते रहते है.
  • अपने मान और सामाजिक व्यक्तित्व का हमेशा ध्यान रखते है.
  • इनके लिए काम करने वाली पूरी टीम होती है, जिससे समय और काम बढ़तेक्रम में होता है.
  • कई बार इस वर्ग के लोग भी सही वित्तीय योजना नहीं होने कारण अपने व्यापार में बर्बाद हुए है.
  • हायर वर्ग जीवनयापन की सभी संसाधन होता है.
  • प्रायः वित्तीय योजना को बहुत गंभीरता से संभालते है क्योकि इस वर्ग के ऊपर बहुत लोगो की जिम्मेदारी होता है.
  • कई जगहों पर निवेश करते है ताकि कठिन वित्तीय परिस्थितियों में उठा पटक कर सके.

तथ्य-

पैसा का प्रबंधन या वित्तीय योजना तभी सफल होगा जब व्यक्ति अपने आप को सही नियमावली में बांध के रखे, जैसेकि जो पैसा आपके पास है, उसे उसी प्रयोजन या काम में लगाए जिसके लिए आप ने कमाया और सोचा है, ऐसा करने से आपको वित्तीय समस्या कभी नहीं आएगा. जिस चीज के जरुरत है वही चीजों पर आप खर्च करे, साथ ही अपने आय को ध्यान में रख करे.

हिंदी में कहावत है-

“आमदनी अठ्ठन्नी और खर्चा रुपैया” (When Expenditures Exceed Income).


Post a comment

0 Comments